BSE India के बारे में सब कुछ

BSE ब्रोकर और प्लेटफार्म

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE), जिसे अब BSE Limited के नाम से जाना जाता है, एक पुरानी स्टॉक एक्सचेंज कंपनी है जिसका मुख्यालय मुंबई, भारत में है। BSE का लोगो भारत के ज़्यादातर निवेशकों को पता है। एशिया में पहली स्टॉक एक्सचेंज कंपनी और भारतीय शेयर बाजार के कारोबार में प्रथम होने के नाते, BSE Ltd ने भारत और दुनिया के वित्तीय बाजार में अपने योगदान के लिए मान्यता के रूप में प्रतिष्ठित पुरस्कार प्राप्त किए हैं। BSE शेयर बाजार उन निवेशकों के लिए एकदम सही है जो डेट इंस्ट्रूमेंट्स, मुद्राओं, इक्विटी, म्यूचुअल फंड और डेरिवेटिव में व्यापार करना चाहते हैं।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का इतिहास

bse इंडिया
BSE की स्थापना आधिकारिक तौर पर 1875 में हुई थी, लेकिन Wikipedia के अनुसार, इसके स्टॉक ब्रोकर्स ने तो 1850 में ही इस फर्म की शुरुआत कर दी थी। उस समय स्टॉक ब्रोकर्स ने अपनी बैठकें और व्यापारिक लेन-देन केवल एक बरगद के पेड़ के नीचे किए थे, जो मुंबई टाउन हॉल के ठीक सामने स्थित था। कार्यालय न होने की कमी के बावजूद, BSE का विकास जारी रहा, जैसे-जैसे वर्ष बीतते गए और अधिक स्टॉकब्रोकर फर्म में शामिल होते गए।

जैसे-जैसे व्यवसाय बढ़ता गया और अधिक स्टॉकब्रोकर उद्योग में शामिल होते गए, BSE को कारोबार करने के लिए सही जगह की तलाश करनी पड़ी। अंत में, 1928 में, फर्म ने हॉर्निमैन सर्कल के पास एक जगह का अधिग्रहण किया, जहाँ उन्होंने एक बिल्डिंग बनाई जिसमें अब उनका वर्तमान कार्यालय है। जिस पते पर BSE की बिल्डिंग दशकों से मौजूद है, उसे दलाल स्ट्रीट कहा जाता है, जो एक हिंदी शब्द है जिसका अर्थ है “ब्रोकर स्ट्रीट”।

अपनी विनम्र शुरुआत के बावजूद, BSE ने कई सफलताएँ हासिल की हैं और कई पुरस्कार भी पाएँ हैं। हासिल की गई कुछ सफलताओं और पुरस्कारों में निम्नलिखित शामिल हैं:

  • अगस्त 1957, में सिक्योरिटीज कॉन्ट्रैक्ट्स रेगुलेशन एक्ट (SCRA) के तहत भारत सरकार द्वारा स्थायी मान्यता।
  • भारत के पहले स्टॉक इंडेक्स, S&P BSE SENSEX (1986) की शुरुआत।
  • 1997 में ट्रेड गारंटी फण्ड (TGF) की शुरुआत।
  • 2001 में स्टॉक ऑप्शंस की शुरुआत।
  • 2015 में ओवरनाइट इन्वेस्टमेंट प्रोडक्ट की शुरुआत।
  • 2017 में यह आधिकारिक तौर पर भारत की पहली सूचीबद्ध स्टॉक एक्सचेंज कंपनी बन गई।

BSE Online Trading System (BOLT) भी 1995 में शुरू किया गया था। BOLT को अन्य सूचना विक्रेताओं, जैसे Reuters, Bridge और Bloomberg के साथ बातचीत करने के लिए जोड़ा और डिज़ाइन किया गया है। यह सूचना का प्रसार करता है, इंडेक्स की गणना प्रदान करता है, और निवेशकों को स्टॉक की स्थिति की निगरानी करने की अनुमति देता है। BSE ट्रेडिंग पोर्टल निवेशकों को दिखाता है कि कौन से स्टॉक हमेशा उच्च स्तर पर रहते हैं, कौन से सस्ते दाम पर खरीदे जा सकते हैं, कौन से इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए सर्वश्रेष्ठ हैं और भी बहुत कुछ। BOLT प्रणाली द्वारा दिखाई गई जानकारी निवेशकों को रियल-टाइम के आधार पर अपने निवेश के लिए सही निर्णय लेने और कार्य करने में मदद करती है।

BSE की उपलब्धियों और पुरस्कारों की पूरी सूची के लिए, आप इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते हैं। उपयोगकर्ताओं की सुविधा के लिए यह वेबसाइट www.bseindia.com हिंदी और अंग्रेजी दोनों में उपलब्ध है।

BSE में टॉप 15 कंपनियाँ

bse शेयर बाजार
फरवरी 2022 तक, BSE स्टॉक एक्सचेंज में पाँच हजार से अधिक कंपनियाँ सूचीबद्ध हैं। इनमें से बाजार पूंजीकरण के आधार पर टॉप 15 कंपनियाँ निम्नलिखित हैं जो की किसी विशेष क्रम में नहीं हैं:

  • Reliance Industries Ltd.
  • ITC Ltd.
  • HDFC Bank Ltd.
  • State Bank of India
  • Asian Paints Ltd.
  • ICICI Bank Ltd.
  • Bharti Airtel Ltd.
  • Bajaj Finance Ltd.
  • Housing Development Finance Corporation Ltd.
  • Hindustan Unilever Ltd.
  • Infosys Ltd.
  • Tata Consultancy Services Ltd.
  • Adani Green Energy Ltd.
  • Life Insurance Corporation of India (LIC).
  • Kotak Mahindra Bank Ltd.

टॉप BSE इंडेक्स

bse बाजार सूचकांक
BSE और अन्य स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध हजारों कंपनियों के साथ, उन सभी पर एक साथ निगरानी करना लगभग असंभव हो सकता है। इसी को ध्यान में रखते हुए स्टॉक इंडेक्स बनाए जाते हैं। नए निवेशकों को शेयर बाजार के इंडेक्स का अर्थ काफी अस्पष्ट लग सकता है। फिर भी, जैसे-जैसे वे ऑनलाइन ट्रेडिंग और निवेश उद्यम में बेहतर होते जाएँगे, वे शायद समझ जाएँगे कि यह कैसे काम करता है।

वर्तमान में, टॉप BSE इंडेक्सों में निम्नलिखित शामिल हैं, जो किसी विशेष क्रम में नहीं हैं:

  • BSE SENSEX;
  • BSE midcap;
  • BSE 200;
  • BSE smallcap;
  • BSE 500;
  • BSE Bankex.

स्टॉक इंडेक्स उन चुनिंदा शेयरों के समूह को संदर्भित करते हैं जिनमें कुछ समानताएँ होती हैं। उन्हें समूहीकृत किया जाता है उन कंपनियों के उद्योग के आधार पर जिनसे वे संबंधित हैं, कंपनी के आकार, और बाजार पूंजीकरण, अदि के आधार पर।

BSE के फायदे और नुकसान

bse वेबसाइट
स्टॉक एक्सचेंजों में निवेश, निवेशकों को कई लाभ प्रदान करने के लिए जाना जाता है। लेकिन, यह कई कमियों से भी भरा हुआ है। इसलिए, शेयरों में निवेश करना हर किसी के बस की बात नहीं है। BSE ट्रेडिंग भी कुछ अलग नहीं है। हालाँकि, BSE मॉडल निवेशकों को आकर्षक लग सकता है, यह अपने प्रतिस्पर्धियों के समान ही है – इसमें कोई गारंटी नहीं है कि निवेशक खरीदे गए हर ऐसेट पर लाभ कमाएँगे। इसलिए, BSE में किसी भी राशि का निवेश करने से पहले, इसके विभिन्न लाभों और कमियों को जानना महत्वपूर्ण है।

BSE के फायदे

BSE Limited लंबी अवधि में अतिरिक्त आय प्राप्त करने के लिए एक उत्कृष्ट पोर्टल है। शेयरों में ट्रेडिंग के लिए BSE का उपयोग करने के कुछ फायदे यहाँ दिए गए हैं:

  • आधिकारिक वेबसाइट निवेशकों को शेयर बाजार की वर्तमान स्थिति, BSE के शेयर की कीमतों और बहुत से अन्य विषयों के बारे में व्यापक जानकारी प्रदान करती है। यह निवेशकों को मौजूदा ट्रेंड्स के बारे में भी अवगत करने और नई कंपनियों की योजनाओं और कार्यक्रमों को अपनी वेबसाइट पर मिलने वाली कॉर्पोरेट घोषणाओं के माध्यम से जानने की अनुमति देता है।
  • निवेशक अपनी शिकायत या समर्थन और समस्या निवारण के लिए फोन या ईमेल के माध्यम से BSE ग्राहक सेवा से संपर्क कर सकते हैं।
  • BSE वेबसाइट को देखना बहुत आसान है। महत्वपूर्ण जानकारी सीधे इसके होमपेज पर प्राप्त की जा सकती है।
  • BSE नए ट्रेडर्स को यह सीखने का आसान तरीका प्रदान करता है कि वे ऐसेट्स और शेयरों के व्यापार में निवेश कैसे करें।
  • सभी ट्रेड निष्पादनों की कीमत समान है।
  • BSE में सूचीबद्ध कंपनियाँ प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गम या IPO के जरिए अतिरिक्त पूंजी जुटा सकती हैं।
  • BSE लेन-देन पारदर्शिता को सुगम बनाता है। BSE लिस्टिंग सेंटर के माध्यम से कंपनियाँ पारदर्शिता के लिए सूचीबद्ध निम्नलिखित इंस्ट्रूमेंट्स प्राप्त कर सकती हैं: इक्विटी शेयर, म्यूचुअल फंड, ऋण, REIT और कई और।
  • BSE की वेबसाइट हिंदी और गुजराती सहित अन्य भाषा संस्करणों में भी उपलब्ध है।
  • जो कोई भी स्टॉक में व्यापार करना चाहता है वह BSE का इस्तेमाल कर सकता है।
  • BSE निवेशकों को लाइव मार्केट मूवमेंट की निगरानी करने और बाजार इंडेक्सों का विश्लेषण करने की अनुमति देता है।
  • निवेशकों के पास त्रैमासिक परिणामों और रिपोर्टों तक पहुँच होती है।

BSE India को अच्छी कॉर्पोरेट प्रथाओं का पालन करने के लिए भी जाना जाता है, जो एक ऐसी विशेषता है जिसे निवेशक अक्सर स्टॉक एक्सचेंज में ढूँढ़ते हैं।

BSE के नुक्सान

BSE Ltd में ट्रेडिंग के दो प्रमुख नुकसान हैं, पहला, इंट्राडे ट्रेडिंग में भाग लेने वाले निवेशकों के लिए BSE एक अच्छा विकल्प नहीं है। इसके अलावा, BSE में कमजोर या कम लिक्विडिटी है।

BSE कैसे काम करता है?

bse ट्रेडिंग
BSE को कई कारणों से सर्वश्रेष्ठ स्टॉक एक्सचेंजों में से एक के रूप में जाना जाता है: यह अपने संरक्षकों को बेहतर सेवा देने के लिए टेक्नोलॉजी का उपयोग करता है। BSE एक तेज ऑनलाइन ट्रेडिंग सिस्टम का उपयोग करता है जो निवेशकों को स्टॉक और सिक्योरिटीज में व्यापार करने और ऑनलाइन शेयर बाजार के बारे में अधिक जानने की अनुमति देता है। निवेशक BSE के ऑनलाइन ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर लगभग हर चीज ढूँढ़ सकते हैं।

नए निवेशकों के लिए BSE एक अच्छा शुरुआती मंच है। वे ट्रेडिंग टर्मिनल का उपयोग निम्न के लिए कर सकते हैं:

  • एक तकनीकी चार्ट में डेटा को पढ़ने का तरीका सीखने के लिए। यह Training & Certification में BSE की वेबसाइट से भी सीखा जा सकता है।
  • सिक्योरिटीज और शेयरों की अस्थिरता की तुलना और निगरानी करने के लिए Beta जैसे सांख्यिकीय उपायों का उपयोग करने को सिखने के लिए।
  • ट्रेडिंग रणनीति के रूप में Pivot टेबल के उपयोग को समझने के लिए।
  • खरीदने या बेचने के उद्देश्य से स्टॉक के लिए एक दाम प्राप्त करने के लिए।

साथ ही, BSE के ऑनलाइन ट्रेडिंग सिस्टम का उपयोग करने वाले निवेशक निम्नलिखित लाभों का आनंद ले सकते हैं:

  • रीयल-टाइम में बाज़ार के आंकड़ों की निगरानी करना। इसका मतलब है कि वे स्टॉक की कीमतों को लाइव देख सकते हैं और उनकी गतिविधियों की निगरानी कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, यदि कोई निवेशक Bel या BSC शेयर की कीमत की स्थिति जानना चाहता है, तो वे Upstox जैसे कुछ अन्य व्यापारिक अनुप्रयोगों में उनकी खोज किए बिना इन कंपनियों के स्टॉक की कीमतों का विश्लेषण कर सकता है।
  • आज के सबसे अधिक लाभ उठाने वाले या घाटे में रहने वाले या ऐसेट्स के मूवमेंट पर नजर रखने के लिए टिकर का इस्तेमाल करें।
  • प्लेटफॉर्म पर खरीदने के लिए सबसे अच्छी ऐसेट की खोज करें या कंपनी के बारे में जानकारी देखें, कि यह दूसरों की तुलना में कैसा प्रदर्शन करती है। उदाहरण के लिए, यदि वे जानना चाहते हैं कि नेशनल इंश्योरेंस कंपनी के स्टॉक्स, शेयर बाजार में कैसा प्रदर्शन कर रहे हैं, तो वे सर्च बार में कंपनी का संक्षिप्त नाम या स्टॉक एक्सचेंज में इस्तेमाल किया गया कोड, जो कि एनआईसी (NIC) है, टाइप कर सकते हैं। यह उन्हें सीधे उस पेज पर ले जाएगा जिसमें कंपनी के बारे में उनकी जरूरत का हर डेटा होगा।

शेयर ट्रेडिंग के बारे में शून्य ज्ञान रखने वाले भी BSE में इसके बारे में एक या दो चीजें सीख सकते हैं।

BSE में ऑनलाइन व्यापार कैसे करें?

प्लेटफॉर्म के साथ ट्रेडिंग शुरू करने के लिए, उपयोगकर्ताओं को अपने उपकरणों पर BSE Electronic Smart Trader ऐप (BEST) डाउनलोड करना होगा। एक बार डाउनलोड हो जाने के बाद, वे पंजीकरण के साथ आगे बढ़ सकते हैं। ध्यान दें कि डाउनलोड के लिए कोई सिस्टम आवश्यकता हो सकती है। BEST में लॉग इन करने से उपयोगकर्ता BSE में व्यापार कर सकेंगे।

लेकिन क्या वे सीधे BSE के साथ ट्रेड कर सकते हैं? हाँ, लेकिन केवल कुछ मामलों में। प्रत्यक्ष निवेश के लिए ऐसी पहुँच कुछ खास उपयोगकर्ताओं को ही प्रदान की जाती है जो BSE पर बड़े लेन-देन करते हैं। दुसरे लोग BSE शेयर बाजार में ब्रोकरेज एजेंसी के माध्यम से एक सहमत शुल्क पर व्यापार कर सकते हैं। ऐसा करने के लिए, उन्हें एक ट्रेडिंग खाता खोलना होगा।

अधिकांश स्टॉकब्रोकर एक डेमो खाते की पेशकश करते हैं, जहाँ उपयोगकर्ता वास्तविक खाते में ट्रेडिंग करने से पहले ट्रेडिंग के लिए विभिन्न समय और रणनीतियों को सीखने का प्रयास कर सकते हैं। यह उनके नुकसान को कम रखने में मदद करता है और उन्हें ट्रेडिंग में विश्वास हासिल करने में भी मदद करता है।

BSE India और क्या ऑफर करता है?

bse म्युचुअल फंड
BEST के अलावा, BSE निवेशकों के लिए अन्य प्लेटफॉर्म प्रदान करता है। ऐसा ही एक प्लेटफॉर्म है BSE StAR MF, जो म्यूचुअल फंड में निवेश करने वालों के लिए बनाया गया है।

ध्यान दें कि BSE उन कंपनियों के लिए अलग तरह से काम कर सकता है जो BSE में सूचीबद्ध होना चाहती हैं। ये कंपनियाँ खुद को सूचीबद्ध कराने के लिए BEST का उपयोग नहीं करती हैं। इसके बजाय, उन्हें BSE के ऑनलाइन पोर्टल लिस्टिंग केंद्र में एक निश्चित आवश्यकता प्रदान करनी होगी, जहाँ स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध होने वाली कंपनियों के लिए ऑनलाइन फाइलिंग की अनुमति होती है। सफल सूचीबद्ध कंपनियों को एक स्क्रिप ID दिया जाता है, जो BSE द्वारा सभी सूचीबद्ध सार्वजनिक कंपनियों को दिया जाता है। स्क्रिप नंबर अक्सर Google Finance (गूगल फाइनेंस), में कंपनी के ट्रेड टर्मिनल और सार्वजनिक डेटा स्ट्रीमिंग सेवाओं में दिखाई देते हैं।

नोट! पंजीकरण के दौरान या बाद में होने वाली किसी भी समस्या के लिए BSE हेल्पलाइन उपलब्ध है।

जोखिम की चेतावनी

यदि आप सोच रहे हैं कि क्या BSE वास्तव में आपके लिए लंबे समय में, पैसा कमाने का एक अच्छा माध्यम है, तो याद रखें कि शेयर बाजार में कोई गारंटी नहीं होती है। Pivotree Inc (PVT), ITC, Infosys, Odisha Cement Ltd., जैसे स्टॉक्स और यहाँ तक कि कुछ निवेशकों को महत्वपूर्ण रिटर्न देने वाले स्टॉक्स भी समय-समय पर अपने सबसे निचले स्तर पर आ सकते हैं।

Rate article
Online Investment